राजनीतिराज्यराष्ट्रीय

कांग्रेस ने मुझे जबरन अदाणी के खिलाफ बोलने को कहा, गौरव भल्लभ

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) से पहले कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने वाले नेताओं का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. गौरव वल्‍लभ (Gourav Vallabh) हाल ही में कांग्रेस का दामन छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं।

गौरव वल्‍लभ ने अपनी पुरानी पार्टी छोड़ने के बाद उस पर जमकर आरोप लगाए हैं. एक टीवी चैनल के साथ शनिवार को ख़ास बातचीत में गौरव वल्‍लभ ने कहा कि कांग्रेस ने मुझे जबरन अदाणी के खिलाफ बोलने के लिए कहा था. वहीं गौरव वल्लभ ने यह कहते हुए कांग्रेस से इस्तीफा दिया था कि वह सनातन विरोधी नारे नहीं लगा सकते और ‘वेल्थ क्रिएटर्स’ को गाली नहीं दे सकते हैं।
गौरव वल्‍लभ ने कहा, “मैंने अदाणी के खिलाफ प्रेसवार्ता की. पर जब अदाणी को सेबी ने क्‍लीनचिट दे दी तो मैंने कांग्रेस के सभी नेताओं को बोला कि अब अदाणी वाले मुद्दे को हमें ड्रॉप करना चाहिए. वैल्‍थ क्रिएटर्स को गाली देना बंद करना चाहिए. पर कांग्रेस ने मेरी बात नहीं सुनी.”

PA चला रहे हैं कांग्रेस के बड़े-बड़े डिपार्टमेंट : गौरव वल्‍लभ

इसके साथ ही उन्‍होंने कांग्रेस पार्टी की कार्यशैली पर भी सवाल उठाया और कहा, “कांग्रेस के जो भी बड़े-बड़े डिपार्टमेंट हैं, वो पीए लोग चला रहे हैं. पीए लोगों को आप पीए का काम दो. राजनेताओं को पॉलिटिक्‍स का काम दो.”

कांग्रेस को बताया था सनातन विरोधी

इससे पहले, पार्टी छोड़ने के बाद गौरव वल्लभ ने कहा था कि अयोध्या में राम मंदिर पर कांग्रेस के रुख ने उनको हैरानी में डाल दिया था. पार्टी के इस स्टैंड से वह काफी असहज हो गए थे, क्योंकि वह जन्म से हिंदू और कर्म से शिक्षक हैं. कांग्रेस और इसके गठबंधन से जुड़े लोग सनातन के विरोधी हैं।

Related Articles

Back to top button