तमिलनाडुराजनीतिराज्यराष्ट्रीय

Chandrababu Meets PM Modi: चंद्रबाबू नायडू ने PM मोदी से मुलाकात में थमाई लिस्ट

Chandrababu Meets PM Modi: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की. इस मुलाकात को लेकर राजनीति के जानकार इसके अलग-अलग मायने निकाल रहे हैं।
माना जा रहा है कि चंद्रबाबू नायडू के हाथ में जो लिफाफा था, उसे देखकर ऐसा लग रहा है कि वो राज्य के लिए अपनी मांगों का लिस्ट लेकर पीएम से मिलने गए थे।

लाइव हिन्दुस्तान की रिपोर्ट के मुताबिक, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने केंद्र के सामने मांग रखी है कि आंध्र प्रदेश के लिए अलग से बजट आवंटित किया जाए. यानी आंध्र प्रदेश को स्पेशल पैकेज दिया जाए. क्योंकि, चंद्रबाबू नायडू अच्छी तरह से जानते हैं कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं दिया जा सकता. इसलिए उन्होंने अपनी मांग को स्पेशल पैकेज के रूप में केंद्र के सामने पेश किया है. चंद्रबाबू ने मुलाकात के समय आंध्र प्रदेश पर जो कर्ज है वो मुद्दा उठाया।
वहीं, सीएम चंद्रबाबू नायडू ने कहा कि ये हालात पूर्व की जगनमोहन रेड्डी की सरकार में बने. जबकि राज्य में इतना विकास भी नहीं हुआ और न ही इंफ्रास्ट्रक्चर पर कोई बड़ा काम हुआ. इसके अलावा उन्होंने अमरावती को राजधानी के तौर पर विकसित करने की मांग उठाई. उन्होंने कहा कि अमरावती को राजधानी के तौर पर विकसित करने के लिए फंड्स की कमी पड़ रही है. अगर इसमें केंद्र सरकार मदद करे तो इसका काम भी जल्द पूरा हो जाएगा।

सीएम नायडू ने पोलावरम सिंचाई परियोजना के लिए भी केंद्र सरकार से बजट की डिमांड की है। इसके अलावा राज्य की सिंचाई परियोजनाओं और जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे सड़कों पुलों और बांधों के निर्माण के लिए भी स्पेशल पैकेज की मांग उठाई है. इस दौरान उन्होंने बुंदेलखंड का हवाला देते हुए कहा कि जैसे केंद्र सरकार ने बुंदेलखंड के लिए स्पेशल पैकेज जारी किया वैसे ही आंध्र प्रदेश के लिए भी किया जाए।

हालांकि, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से भी राज्य में पुलों और सड़कों के लिए अलग से बजट की मांग की. यानी कुल मिलाकर मुलाकात के दौरान उनका केंद्र राज्य को स्पेशल पैकेज की मांग पर ही रहा। चंद्रबाबू नायडू की पार्टी टीडीपी इस समय एनडीए का हिस्सा है और सदन में उनके 16 सांसद हैं जो बीजेपी के लिए सरकार को बनाए रखने के लिए खासे अहम है. इसलिए बीजेपी उन्हें नाराज नहीं करना चाहेगी।

Related Articles

Back to top button