राज्यहरियाणा

अस्थियां बहाकर लौट रहे एक ही परिवार के चार लोगों की मौत

गुरुग्राम में कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे पर सोमवार को हुए भीषण सड़क हादसे में चार लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। इस हादसे में दो अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। हादसे का शिकार हुआ यह परिवार अपने एक परिजन की अस्थियां विसर्जित कर वापस लौट रहा था।

जानकारी के अनुसार, सोमवार दोपहर को कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) एक्सप्रेसवे पर फर्रुखनगर के पास तेज रफ्तार कार आगे चल रहे कैंटर से टकरा गई। इससे कार का संतुलन बिगड़ गया और वह कई बार पलटती चली गई। कार में सवार तीन महिलाएं और एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं दो घायलों को गंभीर हालत में गुरुग्राम सेक्टर-10 स्थित नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां पर उनकी गंभीर हालत को देखते हुए दिल्ली रेफर कर दिया गया।

मूलरूप से राजस्थान के सीकर निवासी परिवार में एक सदस्य की मौत हो गई थी। परिवार के लोग दो गाड़ियों में सवार होकर गढ़ गंगा में उनकी अस्थियां विसर्जित करने गए थे। दो कारों में सवार परिवार के लोग अस्थियां प्रवाहित करने के बाद सोमवार को वापस आ रहे थे। अर्टिगा कार केएमपी पर फर्रुखनगर के पास पहुंची, तभी कार चालक ने सामने चल रहे कैंटर को ओवरटेक करने का प्रयास किया। इस दौरान कार कैंटर से टकरा गई। इसके बाद कार पलटती चली गई और उसके परखच्चे उड़ गए। आसपास के लोगों ने कार में सवार लोगों को बाहर निकाला और पुलिस को हादसे की सूचना दी। इनमें 52 वर्षीय ब्रजेश कौशिक और उनकी पत्नी 48 वर्षीया सुनीता, मां कमला देवी और राकेश की पत्नी 46 वर्षीया किरण कौशिक की मौत हो गई। राकेश के बेटे हिमांशु और आकांशु गंभीर रूप से घायल हो गए, जिनको इलाज के लिए अस्पताल भर्ती कराया गया है।

पुलिस ने मृतकों के परिजनों की शिकायत पर फर्रुखनगर थाने में कैंटर चालक के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Related Articles

Back to top button