उत्तर प्रदेशहाथरस

हाथरस के इस इलाके में 15 दिनों से नहीं मिल रहा पानी, ग्रामीणों ने टंकी के पास इकट्ठा होकर जताया विरोध

Hathras1

उत्तर प्रदेश (UP) के हाथरस में लोग पानी की कमी से बेहाल हैं. हाथरस (Hathras) के हसायन क्षेत्र में 15 दिनों से पानी न मिल पाने की वजह से स्थानीय लोग प्रदर्शन करने को मजबूर हो गए. लोगों का आरोप है कि हसायन नगर पंचायत क्षेत्र के मोहल्ला जाटान में पानी की सप्लाई (Water Supply) करीब 15 दिनों से नहीं हो रही है. लोगों का कहना है कि मोटर का पंखा खराब होने की वजह से पानी नहीं मिल पा रहा है. इस संकट की वजह से लोग नहाने और पीने के पानी जैसे दैनिक कार्यों के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं.

हाथरस के लेगों का कहना है कि उन्होंने कई बार नगर पंचायत में पानी के संकट को लेकर शिकायत की, लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं हो का. गुस्साए लोगों ने पानी की टंकी के पास इकट्ठा होकर विरोध-प्रदर्शन किया. उन्होंने जल्द ही पानी की सप्लाई चालू करने की मांग की है. स्थानीय लोगों का कहना है कि मोहल्ला जाटवालों में हसायन के लोगों के लिए पानी सप्लाई के लिए यह टंकी बनी हुई है.

15 दिनों से पानी का संकट

स्थानीय लोगों का कहना है कि करीब 15 दिन से मोटर खराब होने की वजह से वह पानी के संकट से जूझ रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ उत्तर भारत में इन दिनों गर्मी का भयंकर प्रकोप है. ऐसे में पानी न मिलना किसी बड़े संकट से कम नहीं है. शिकायत के बावजूद नगर पंचायत प्रशासन ने मोटर सही नहीं कराई है, जिसकी वजह से लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है. पानी के संकट से जूझ रहे लोगों में काफी आक्रोश है. इसी वजह से उन्होंने इकट्ठा होकर विरोध-प्रदर्शन किया. ग्रामीणों का कहना है कि उन्होंने कई बार नगर पंचायत अध्यक्ष से लेकर अन्य पंचायत अधिकारियों से शिकायत की है, लेकिन फिर भी आए दिन पानी की टंकी खराब हो जाती है.

मोटर का पंखा खराब होने से सप्लाई बाधित

लोगों का कहना है कि इसे पूरी तरह सही कराने पर कोई ध्यान नहीं दिया जाता है. स्थानीय लोगों का कहना है कि उन्हें पानी के लिए काफी दूर जाना पड़ता है. ग्रामीणों की मांग है कि उन्हें जल्द पानी मुहैया कराया जाए. वहीं इस मामले में नगर पंचायत अध्यक्ष ने कहा है कि मोटर का पंखा खराब होने की वजह से पानी की सप्लाई बाधित हुई है. इसे जल्द ही ठीक करा दिया जाएगा. उन्ंहोंने कहा कि पंखा ठीक करने के लिए कर्मचारी आए थे, लेकिन एक पाट नहीं मिल पाया. जिसकी वजह से समय लग रहा है. उन्होंने भरोसा दिया कि एक-दो दिन में पाट बदलकर जल्दी पानी की सफाई चालू करा दी जाएगी.

कलप्रिट तहलका (राष्ट्रीय हिन्दी साप्ताहिक) भारत/उप्र सरकार से मान्यता प्राप्त वर्ष 2002 से प्रकाशित। आप सभी के सहयोग से अब वेब माध्यम से आपके सामने उपस्थित है।
समाचार,विज्ञापन,लेख व हमसे जुड़ने के लिए संम्पर्क करें।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Back to top button