उत्तर प्रदेशएटा

भागवत कथाओं के आयोजन सनातन धर्म की आवाज, हिंदू धर्म को मजबूती की प्रदान करते हैं :- अवधपाल सिंह यादव

ग्रामीण इलाकों में श्रीमद् भागवत कथाओं के आयोजन सनातन धर्म की आवाज बनकर हिंदू धर्म को मजबूती की प्रदान करते हैं :- चौधरी अवधपाल सिंह यादव

कथा भागवत के आयोजन सनातन धर्म की ध्वजा पताका फहराने में अति महत्वपूर्ण है :- राजू आर्य

एटा । विगत दिवस तहसील अलीगंज के गांव इमादपुर निवासी राजेश कुमार वैध जी ने अपनी स्वर्गीय माताजी श्रीमती शारदा देवी की पुण्यतिथि पर पूर्व की भांति इस बर्ष भी श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का आयोजन धूमधाम के साथ कराया। कार्यक्रम के प्रथम दिवस पर गांव की बालिकाओं एवं महिलाओं द्वारा गंगा जी से घड़ा भरकर लाए गए जल से परिपूर्ण कलश यात्रा बैंड बाजा के साथ निकाली गई।

श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के शुभारंभ पर कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए माननीय चौधरी अवध पाल सिंह यादव पूर्व कैबिनेट मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार ने सबसे पहले कार्यक्रम के अन्य अथिति गणों के साथ गीता काट कर धार्मिक अनुष्ठान का शुभारंभ कराया तत्पश्चात कार्यक्रम आयोजन समिति द्वारा सभी अतिथि गणों का साल, माला पहनाकर भगवान श्री राम का फोटो भेंट करते हुए सम्मान कराया गया।

धार्मिक अनुष्ठान को संबोधित करते हुए चौधरी अवधपाल सिंह यादव ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में इस प्रकार के कार्यक्रम करने वालों का अन्य आयोजनों से बढ़कर चार गुना अधिक पुण्य लाभ प्राप्त होता है। क्योंकि देहाती जनता को अपने घर दरवाजे पर ही धर्म का ज्ञान प्राप्त होता है। तथा धर्म की मर्यादा और पाप पुण्य की जानकारी भी प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि इसीलिए कथा के श्रोताओं को श्रीमद् भागवत कथा सुनने का सबसे बड़ा पुण्य लाभ मिलने का उल्लेख वेदों में बताया गया है।

इसी क्रम में सनातन रक्षक समिति (उ.प्र.) के प्रदेश अध्यक्ष एवं कट्टर हिंदूवादी किसान नेता रंजीत कुमार उर्फ राजू आर्य ने कहा कि ग्रामीण इलाकों में आयोजित होने वाली श्रीमद् भागवत कथा के श्रवण से ही आम जनमानस में सनातन धर्म के प्रति जागृति पैदा होती है। जो हिंदू धर्म को मजबूती प्रदान करने का काम करती है।

वहीं जिला के वरिष्ठ चिकित्सक सर्जन डॉ रविन यादव ने अपने संबोधन में कहा कि इस तरह से श्रीमद् भागवत कथाओं का आयोजन कराने वाले लोग बधाई के पात्र हैं, जो ग्रामीण इलाके में धर्म का प्रचार प्रसार करके हिंदू धर्म को मजबूती प्रदान कर रहे हैं।

विशनपाल सिंह चौहान ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए कहा कि वे लोग धन्य हैं जो इस कलिकाल में भी भारतीय संस्कृति एवं परंपराओं के जीवंत उदाहरण बने हुए हैं, जो अपने स्वर्गीय पुर्खो की स्मृति को श्रीमद् भागवत कथा जैसे धार्मिक अनुष्ठान एवं आयोजनों के माध्यम से मनाते हुए अपने माता एवं पिताओं को मृत्यु उपरांत ऋण चुकता करने का महान कार्य करते रहते हैं। तथा आगामी नई पीढ़ी को मातृ एवं पित्र ऋण चुकता करने का संदेश भी घर-घर तक पहुंचाने का बेसकीमती प्रयास करते हुए धर्म का प्रचार प्रसार करने में जुटे रहते हैं।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से पूर्व कैबिनेट मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार चौधरी अवधपाल सिंह यादव के अलावा विभिन्न आश्रम एवं मठ मंदिरों के प्रमुख संत, महंत एवं साधुजन, गुरुजन, तथा रंजीत कुमार उर्फ राजू आर्य, डॉक्टर रविन यादव वरिष्ठ सर्जन, पूर्व जिला पंचायत सदस्य चौधरी रणजीत सिंह यादव, सत्येंद्र सिंह यादव नेताजी, प्रदीप यादव तथा कार्यक्रम प्रभारी रवि कुमार शर्मा रवि पत्रकार, एवं संयोजक राजेश कुमार वैद्य जी पत्रकार के अलावा अन्य बहुत से महिला पुरुष श्रोतागण भी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button