उत्तर प्रदेशएटा

दानवीर भामाशाह के जन्म दिवस के अवसर पर व्यापारी कल्याण दिवस का आयोजन पूर्ण हर्षाेल्लास के साथ किया गया

दानवीर भामाशाह के जन्म दिवस के अवसर पर व्यापारी कल्याण दिवस का आयोजन पूर्ण हर्षाेल्लास के साथ किया गया

दानवीर भामाशाह के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर जिला खादी एवं ग्रामोद्योग कार्यालय के सभागार में कार्यक्रम का शुभारंभ किया

एटा । शासन के द्वारा दिए गए निर्देशानुसार आज दानवीर भामाशाह का जन्मदिन 29 जून जनपद में व्यापारी कल्याण दिवस के रूप में जिला खादी एवं ग्रामोद्योग कार्यालय के सभागार में मनाया गया इस अवसर पर दानवीर भामाशाह के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित करने के उपरांत उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए जिला खादी एवं ग्रामोद्योग अधिकारी अशोक सिंह ने बताया कि दानवीर भामाशाह का जन्म राजस्थान के मेवाड़ राज्य में 29 जून 1547 को ओसवाल जैन परिवार में हुआ था वह एक वीर योद्धा,प्रसिद्ध सेनापति और महाराणा प्रताप के करीबी थे भामाशाह का निष्ठा पूर्ण सहयोग एवं दानशीलता का भाव महाराणा प्रताप के जीवन में महत्वपूर्ण और निर्णायक साबित हुआ मातृभूमि की रक्षा के लिए महाराणा प्रताप का सर्वस्व होम हो जाने के बाद भी उनके लक्ष्य को सर्वाेपरि मानते हुए महान दानवीर भामाशाह ने अपनी संपूर्ण धन संपदा उनके चरणों में अर्पित कर दी जिससे महाराणा प्रताप ने पुनः सैन्य शक्ति संगठित करके मुगल शासको को पराजित किया और फिर से मेवाड़ का राज्य प्राप्त किया, दानवीर भामाशाह के जैसा दूसरा दानवीरता का उदाहरण इतिहास में देखने को नहीं मिलता है।
इस अवसर पर नगर के प्रतिष्ठित व्यापारी बंधु धनीराम सिंह मंत्री शांतिनिकेतन, सुनील चौहान मंत्री ग्रामीण महिला उत्थान खादी आश्रम,सुधीर यादव मंत्री श्री विनोबा आश्रम,विनोद चौहान प्रगतिशील किसान जैथरा,आशीष तोमर, दिलीप गुप्ता आरजी ऑयल सेंटर निधौली कला,मानसिंह घुमरिया एवं रामबेटी ऑयल मिल के स्वामी सुभाष यादव ने भी दानवीर भामाशाह के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर अपने विचार प्रकट किये। कार्यक्रम के उपरांत व्यापारी बंधुओ को प्रतीक चिन्ह के रूप में उद्यमिता की उड़ान नामक ओडीओपी से संबंधित टेबल बुक भी भेंट की गई। इस अवसर पर प्रधान सहायक सुघर सिंह एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button